All for Joomla All for Webmasters
जरूरी खबर

केंद्र ने जारी की नई Travel Advisory, राज्यों से नेगेटिव कोविड रिपोर्ट की बाध्यता हटाने की अपील

RTPCR

राज्यों से अपील की गई है कि जिन लोगों के पास वैक्सीन लगवाने के सर्टिफिकेट हैं उनसे आरटीपीसीार टेस्ट (RTPCR Test) ना मांगा जाए. साथ ही जो लोग 14 दिन पहले तक कोविड पॉजिटिव (Covid-19 Positive) थे उन्हें भी छूट दी जानी चाहिए.

नई दिल्ली: केंद्र सरकार ने एक बार फिर देश के अंदर ट्रैवल करने वाले लोगों के लिए कोविड प्रोटोकॉल को लेकर सफाई दी है. स्वास्थ्य मंत्रालय के मुताबिक केंद्र ने इंटर स्टेट ट्रैवल के लिए कोविड टेस्ट की बाध्यता हटा रखी है. लेकिन अगर किसी राज्य ने ऐसा नियम अपने स्तर पर बनाया है तो उसके बारे में सूचना का प्रसार करते रहें.

RTPCR टेस्ट की बाध्यता न रखें

एडवाइजरी में कहा गया है कि हवाई, सड़क और रेल परिवहन के माध्यमों से बगैर किसी दिक्कत के यात्रा कर सकते हैं. राज्यों से अपील की गई है कि जिन लोगों के पास वैक्सीन लगवाने के सर्टिफिकेट हैं उनसे आरटीपीसीार टेस्ट ना मांगा जाए. साथ ही जो लोग 14 दिन पहले तक कोविड पॉजिटिव थे उन्हें भी छूट दी जानी चाहिए. स्वास्थय मंत्रालय ने राज्यों से अपील की है कि नेगेटिव कोरोना टेस्ट की बाध्यता ना रखी जाए.

नई दिल्ली: केंद्र सरकार ने एक बार फिर देश के अंदर ट्रैवल करने वाले लोगों के लिए कोविड प्रोटोकॉल को लेकर सफाई दी है. स्वास्थ्य मंत्रालय के मुताबिक केंद्र ने इंटर स्टेट ट्रैवल के लिए कोविड टेस्ट की बाध्यता हटा रखी है. लेकिन अगर किसी राज्य ने ऐसा नियम अपने स्तर पर बनाया है तो उसके बारे में सूचना का प्रसार करते रहें.

RTPCR टेस्ट की बाध्यता न रखें

एडवाइजरी में कहा गया है कि हवाई, सड़क और रेल परिवहन के माध्यमों से बगैर किसी दिक्कत के यात्रा कर सकते हैं. राज्यों से अपील की गई है कि जिन लोगों के पास वैक्सीन लगवाने के सर्टिफिकेट हैं उनसे आरटीपीसीार टेस्ट ना मांगा जाए. साथ ही जो लोग 14 दिन पहले तक कोविड पॉजिटिव थे उन्हें भी छूट दी जानी चाहिए. स्वास्थय मंत्रालय ने राज्यों से अपील की है कि नेगेटिव कोरोना टेस्ट की बाध्यता ना रखी जाए.

केंद्र ने राज्यों को निर्देश दिए हैं कि जिन लोगों ने कोरोना वैक्सीन लगवा ली है, उनके पास सर्टिफिकेट भी है और दूसरी डोज को 15 दिन का वक्त बीत चुका है, उन लोगों से RTPCR टेस्ट या रैपिड टेस्ट ना मांगा जाए. हालांकि राज्य में एंट्री पर अगर किसी व्यक्ति में बुखार के लक्षण दिखते हैं तो उसका रैपिड टेस्ट करवाया जा सकता है.

केरल में बढ़ा कोरोना का प्रकोप

साथ ही केंद्र ने राज्यों से कहा है कि अगर किसी राज्य में कोरोना के केस अचानक बढ़ते हैं तो वो राज्य अपने हिसाब से प्रतिबंध कड़े कर सकता है. स्थानीय स्तर पर कंटेनमेंट जोन भी घोषित कर सकता है. केरल में बुधवार को संक्रमण के कुल 31,445 नए मामले सामने आए हैं और 215 लोगों की मौत हुई है. इसके साथ ही राज्य में संक्रमण के कुल 38,83,429 मामले हो गए जबकि मौतों की कुल संख्या 19,972 पहुंच गई है.

Source :
Click to comment

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

लोकप्रिय

To Top