All for Joomla All for Webmasters
शेयर बाजार

शेयर बाजार में मामूली बढ़त, Indusind Bank समेत इन शेयरों में तेजी

stock_market

नई दिल्‍ली, बिजनेस डेस्‍क। बुधवार को Sensex पिछले बंद से ऊपर खुला। कारोबार के दौरान बाजार की शुरुआत 58,350.56 अंक से हुई। Indusind Bank, Bharti Airtel समेत तीन दर्जन शेयरों में तेजी देखी गई। कारोबार के दौरान Sensex ने 58,372.94 अंक का High बनाया। Nifty 50 इंडेक्‍स कीशुरुआत भी मामूली तेजी के साथ हुई। इंडेक्‍स 17,375.75 अंक पर खुलने के बाद 14 अंक नीचे आ गया था।

इससे पहले मंगलवार को शेयर बाजार एक बार फिर कारोबार के दौरान रिकार्ड स्तर पर पहुंच गये लेकिन अंत में आईटी, फार्मा और बैंक शेयरों में उच्च स्तर पर हुई मुनाफावसूली से बीएसई सेंसेक्स और एनएसई निफ्टी मामूली गिरावट के साथ बंद हुए। कारोबारियों के अनुसार अमेरिकी डॉलर के मुकाबले रुपये की विनिमय दर में 32 पैसे की बड़ी गिरावट से भी धारणा प्रभावित हुई।

तीस शेयरों पर आधारित सेंसेक्स में पिछले तीन दिन से जारी तेजी पर विराम लगा और यह 17.43 अंक यानी 0.03 प्रतिशत की गिरावट के साथ 58,279.48 अंक पर बंद हुआ। कारोबार के दौरान यह 58,553.07 अंक के रिकार्ड स्तर तक चला गया था।

इसी प्रकार, नेशनल स्टॉक एक्सचेंज का निफ्टी 15.70 अंक यानी 0.09 प्रतिशत टूटकर 17,362.10 पर बंद हुआ। कारोबार के दौरान यह रिकार्ड 17,436.50 अंक तक चला गया था।

सेंसेक्स के शेयरों में 1.81 प्रतिशत की गिरावट के साथ सर्वाधिक नुकसान में सन फार्मा का शेयर रहा। इसके अलावा, टेक महिंद्रा, एक्सिस बैंक, एचसीएल टेक, इन्फोसिस, टीसीएस और एल एंड टी में भी गिरावट रही।

दूसरी तरफ, 2.56 प्रतिशत की तेजी के साथ सर्वाधिक लाभ में एचडीएफसी का शेयर रहा। भारती एयरटेल, इंडसइंड बैंक, आईटीसी, अल्ट्राटेक सीमेंट, नेस्ले इंडिया और एशियन पेंट्स भी प्रमुख रूप से लाभ में रहें।

जियोजीत फाइनेंशियल सर्विसेज के शोध प्रमुख विनोद नायर ने कहा, ‘‘घरेलू बाजार में उतार-चढ़ाव रहा। इसका कारण निवेशकों ने हाल की तेजी के बाद मुनाफावसूली को तरजीह दी। हालांकि बाजार में उन क्षेत्रों में तेजी रही, जो पाबंदियों में ढील से लाभान्वित होने वाले हैं।’’

उन्होंने कहा, ‘‘यूरोपीय बैंक की बृहस्पतिवार को मौद्रिक नीति समीक्षा से पहले यूरोप के प्रमुख बाजारों में गिरावट का रुख रहा। बैठक में यूरो क्षेत्र में बढ़ती मुद्रास्फीति को देखते हुए बांड खरीद कार्यक्रम में कमी के बारे में बातचीत की संभावना है।’’

रेलिगेयर ब्रोकिंग लि. के शोध मामलों के उपाध्यक्ष अजीत मिश्रा ने कहा कि घरेलू बाजार में किसी महत्वपूर्ण आर्थिक गतिविधि के अभाव में वैóश्विक रूप से बाजार की चाल तय होगी। उन्होंने कहा कि बाजार में कुछ गिरावट आ सकती हैं या मुनाफावसूली की जा सकती है। ऐसे में शेयरों के चयन में सतर्क रहने की सलाह है। सूचकांक के मामले में निफ्टी को 17,200 से 17,250 के स्तर पर समर्थन है। क्षेत्रवार बीएसई रियल्टी, आईटी, जन केंद्रित सेवाएं, तेल एवं गैस तथा बिजली सूचकांक 2.24 प्रतिशत तक नीचे आये। वहीं दूरसंचार, टिकाऊ उपभोक्ता सामान, दैनिक उपयोग के सामान और ऊर्जा क्षेत्र से संबद्ध सूचकांक लाभ में रहें।

Source :
Click to comment

Leave a Reply

Your email address will not be published.

लोकप्रिय

To Top