All for Joomla All for Webmasters
झारखण्ड

Baba Baidyanath Temale Reopen: हेमंत सरकार ने खोला भक्तों के लिए बाबा मंदिर का दरवाजा, खुशी में झूम उठे देवघरवासी

baba_baidyanath_temple

बाबा बैद्यनाथ मंदिर में ई पास के जरिये एक घंटे में एक सौ लोगों को पूजा की अनुमति दिए जाने की खबर आने के बाद देवघर वासियों में खुशी की लहर दौड़ गई। मंदिर में घंटे की आवाज टकराने लगी। शहर के टावर चौक से मंदिर के गलियारे तक खुशियां की खुशियां छा गयी। मंदिर खोलने की मांग कर रहे पंडा धर्मरक्षिणी सभा अध्यक्ष डा. सुरेश भारद्वाज ने सरकार के फैसले का स्वागत किया और कहा कि देर आयद दुरूस्त आयद। सरकार ने एक घंटा में एक सौ लोगों को पूजा कराने का जो निर्णय लिया है, इसे स्थानीय मंदिर कमेटी और बेहतर से कर सकती है। आपदा प्रबंधन प्राधिकार इस पर स्थानीय कमेटी को निर्देश देकर यह व्यवस्था को और ठोस करा सकती है। व्यवस्था अच्छी हो तो एक सौ से अधिक यात्री भी पूजा कर सकते हैं।

मंदिर खोलने की मांग पर सड़क पर उतरकर देवघर के लोगों के साथ खड़े होने वाले सभा के महामंत्री कार्तिक नाथ ठाकुर ने कहा कि मुख्यमंत्री को इस निर्णय के लिए धन्यवाद देते हैं। देवघर की जनता की ओर से साधुवाद देते हैं। सरकार के इस फैसले से देवघर के अर्थव्यवस्था का पहिया अब हिल गया है जो आने वाले समय में चलने लगेगा।

विधानसभा सत्र में मंदिर खोलने मांग पर जोरदार आवाज बुलंद करने और विधानसभा गेट पर आमरण अनशन करने पर उतारू विधायक नारायण दास का टावर चौक पर कार्यकर्ताओं ने जमकर स्वागत किया। विधायक ने कहा कि मुख्यमंत्री ने उनकी मांग पर जो वायदा किया था उसे उन्होंने पूरा किया। मुख्यमंत्री को पूरे देवघरवासी की ओर से धन्यवाद। यह खुशी का दिन है। झारखंड फेडरेशन के क्षेत्रीय उपाध्यक्ष आलोक मल्लिक ने कहा कि मंदिर के बंद रहने से देवघर की अर्थव्यवस्था चरमरा गयी थी। सारे व्यवसाय ठप सा हो गया था। अब दुकानदार और व्यापार में जान आ जाएगा।

रेडक्रास सोसायटी के चेयरमेन जितेश राजपाल ने कहा कि होटल व्यवसाय पूरी तरह बंद ही हो गया था। मंदिर खुलने से यात्री आएंगे और धीरे धीरे व्यवस्थाएं ठीक होगी। सरकार का फैसला स्वागत योग्य है। बाबा मंदिर दुकानदार संघ के पदाधिकारी चंदन कुमार ने कहा कि सरकार से यही मांग कर रहे थे कि वह मंदिर खोल दें, वह कमाकर अपना रोजी रोटी चला लेंगे। सरकार ने देर ही सही सबकी सुन ली, अब बाबा सबका पार लगा देंगे।

झामुमो महानगर अध्यक्ष सुरेश साह ने एक प्रेस बयान जारी कर कहा है कि मुख्यमंत्री हेमंत सोरेन के द्वारा अहम फैसला लिया गया है कि झारखंड के सभी मंदिरों को खोला जाएगा। बड़े मंदिरों में प्रति घंटा 100 श्रद्धालु पूजा कर सकेंगे। बहुत दिनों से दुकानदारों एवं श्रद्धालुओं की मांग चली आ रही थी उसी को देखते हुए मुख्यमंत्री ने यह अहम फैसला लिया है। इसके लिए हम सभी शहरवासी उनको धन्यवाद देते हैं बहुत ही विकट परिस्थिति का सामना देवघर वासियों को करना पड़ा।

मंदिर बंद रहने के कारण आर्थिक स्थिति कमजोर हुए बावजूद इसके सभी ने सहानुभूति पूर्वक विचार करने का मांग मुख्यमंत्री से झारखंड मुक्ति मोर्चा की तरफ से भी किया गया था। जिसका परिणाम सामने आ गया है। इसके लिए सभी कैबिनेट मंत्री खास कर कृषि मंत्री बादल पत्रलेख, अल्पसंख्यक एवं पर्यटन मंत्री हफीजुल हसन को बहुत-बहुत बधाई।

Source :
Click to comment

Leave a Reply

Your email address will not be published.

लोकप्रिय

To Top