All for Joomla All for Webmasters
राजस्थान

Rajasthan: उदयपुर के फतहसागर झील के बीच में पर्यटकों की अटकी सांस

फतहसागर झील के बीचों-बीच बंद हुई स्पीड बोट बीस मिनट तक टूरिस्ट पानी के बीच फंसे रहे रेस्क्यू बोट के अभाव में तीस सीटर पैंसेजर वोट को ले जाकर फंसे टूरिस्टों को रेस्क्यू कर बाहर सुरक्षित नहीं निकाल लिया गया।

उदयपुर, संवाद सूत्र। यहां झीलों में नावों के संचालन को लेकर एक बड़ी खामी सोमवार को सामने आई, जब पर्यटकों को लेकर निकली स्पीड बोट फतहसागर के बीचों-बीच अचानक बंद हो गई। बोट के दुबारा शुरू होने से पर्यटकों की सांसें अटकी रही। वह लगभग बीस मिनट तक झील के बीचों-बीच फंसे रहे। बोट संचालक के पास रेस्क्यू बोट नहीं होने पर तीस सीटर पैसेंजर बोट के जरिए झील के बीच फंसे पर्यटकों को सुरक्षित बाहर निकाला गया। इस घटना के बाद यह सवाल खड़ा हो गया है कि जब बोट संचालक एजेंसी के रेस्क्यू बोट नहीं थी तो उसे बोट संचालन की अनुमति कैसे मिल गई।

बताया गया कि झील के बीच स्पीड बोट के खराब होने और बंद पड़ने के बाद पर्यटक बुरी तरह घबरा गए थे। जिसके चलते पर्यटकों की सांसे झील के बीच तब तक अटकी रही, जब तक उन्हें रेस्क्यू कर बाहर सुरक्षित नहीं निकाल लिया गया।

बताया गया कि फतहसागर झील में मेवाड़ बोटिंग बोट्स का संचालन करते है। जिसकी कई तरह की बोट झील में चलाई जाती हैं, जिनमें चार सीटर बोट से लेकर तीस और साठ सीटर पैसेंजर बोट और स्पीड बोट भी शामिल है। सोमवार ढाई बजे स्पीड बोट से तीन पर्यटक झील में घूमने निकले। जिसमें बोटिंग संचालन कंपनी का ड्राइवर भी था। स्पीड बोट लगभग एक किलोमीटर दूर पहुंची कि अचानक झील के बीच बोट का इंजन बंद हो गया और वह रूक गई। झील के बीचों-बीच रूकी बोट के चलते पर्यटक बेहद घबरा गए। गनीमत यह रही कि इस दौरान किसी तरह का हादसा नहीं हुआ। रेस्क्यू बोट के अभाव में लगभग बीस मिनट तक पर्यटक बंद बोट में पानी के बीच फंसे रहे। जिसके बाद बोट संचालक एजेंसी ने तीस सीटर पैसेंजर बोट को वहां भेजा और स्पीड बोट के संचालकों को सुरक्षित बाहर निकाला गया।

मालूम हो कि इस बारे में पर्यटकों ने सवाल भी उठाए कि झील में बोटिंग की अनुमति से पहले बोट संचालक कंपनी से रेस्क्यू बोट के बारे में जानकारी ली जानी थी, इसके अभाव में उसे बोट संचालन की अनुमति कैसे दे दी।इधर, जिला परिवहन अधिकारी कल्पना शर्मा का कहना है कि इस मामले की जांच की जाएगी। बोट की फिटनेस भी जांची जाएगी।

जयपुर की एक बालिका की जा चुकी है जान

पूर्व में बोट संचालक एजेंसी की लापरवाही के चलते जयपुर की एक बालिका की जान जा चुकी है। फतहसागर झील में स्पीड बोटिंग के दौरान जयपुर के दंपती के साथ बैठी एक बालिका झील में गिर गई थी । 

Source :
Click to comment

Leave a Reply

Your email address will not be published.

लोकप्रिय

To Top