All for Joomla All for Webmasters
जरूरी खबर

सरसों और मूंगफली का तेल हुआ सस्ता-पाम तेल के भाव रिकॉर्ड ऊंचाई पर, यहां जानें सभी एडिबल ऑयल के रेट्स

vegetable-oils

वैश्विक कच्चे तेल के दाम नई ऊंचाई पर जा रहे हैं वहीं देश में खाने के तेल के दामों में मिलाजुला रुख देखा जा रहा है. सरसों और मूंगफली के तेल के रेट सस्ते हुए हैं और पाम तेल के भाव रिकॉर्ड ऊंचाई पर हैं.

Edible Oil Rates: विदेशी बाजारों में तेजी के रुख के बीच दिल्ली बाजार में लगभग सभी तेल- तिलहनों के भाव में सुधार हुआ. मलेशिया एक्सचेंज में फिलहाल मंदी का रुख है पर स्थानीय बाजार में भाव पहले ही बन जाता है इसलिए मंदी का कोई असर नहीं है. बाजार सूत्रों ने बताया कि बुधवार रात विदेशी बाजार काफी तेजी दर्शाते बंद हुए थे जिसका अनुकूल असर तेल तिलहन कीमतों पर दिखा और लगभग सभी तेल तिलहन में सुधार आ चुका है. 

ये भी पढ़ें : Tesla, Google के शेयरों में आज से शुरू हो गई NSE पर ट्रेडिंग, जानिए आप कैसे खरीद पाएंगे स्‍टॉक्‍स

कच्चा पाम तेल के भाव रिकॉर्ड ऊंचाई पर
बाजार सूत्रों ने बताया कि यूक्रेन और रूस के युद्ध के बीच विदेशों में कच्चा पामतेल (सीपीओ) के दाम 2,000 डॉलर प्रति टन से ऊंचा हो गया है जो रिकॉर्ड है. सुबह में यही भाव 2,120 डॉलर था. आयात करने पर सीपीओ का भाव 167.5 रुपये किलो बैठता है जबकि पामोलीन का भाव आयात करने पर 177 रुपये किलो बैठता है ऐसे में सवाल यह है कि इन महंगे दाम वाले तेलों को कौन खरीदेगा.

देश में अब महंगे मिल रहे एडिबल ऑयल

ये भी पढ़ें : महंगाई की मार से FMCG कंपनियों का बिजनेस बिगड़ा, जानिए कितना हुआ नुकसान


अर्जेन्टीना और ब्राजील से सोयाबीन डीगम तेल के मार्च की निर्यात की खेप नहीं आ रही है. अप्रैल वाली निर्यात की खेप भेजी जा रही है जो जून तक आने की संभावना है. सूत्रों ने कहा कि सीपीओ का भाव सोयाबीन से लगभग 200 डॉलर टन नीचे रहता था, वह सोयाबीन से लगभग 150 डॉलर अधिक कर दिया गया है. अगर देश में तिलहन उत्पादन बढ़ाने की ओर ध्यान दिया गया होता तो आज देश विदेशों की मर्जी पर निर्भर नहीं होता. आयात शुल्क घटाना बढ़ाना एक तात्कालिक उपाय हो सकता है लेकिन कोई स्थायी समाधान नहीं बन सकता.

देशी तेलों में सरसों-मूंगफली के दाम हुए सस्ते
उन्होंने कहा कि देशी तेलों में सरसों, बिनौला ओर मूंगफली के तेल, आयातित तेलों से 10-12 रुपये किलो सस्ता हो गये हैं. बाकी तेल-तिलहनों के भाव बिना किसी बदलाव के कल के ही स्तरों पर देखे जा रहे हैं. 

बाजार में थोक भाव इस प्रकार रहे- (भाव- रुपये प्रति क्विंटल)

सरसों तिलहन – 7,775-7,800 (42 फीसदी कंडीशन का भाव) रुपये.

मूंगफली – 6,575 – 6,670 रुपये.

मूंगफली तेल मिल डिलिवरी (गुजरात) – 15,000 रुपये.

मूंगफली साल्वेंट रिफाइंड तेल 2,505 – 2,690 रुपये प्रति टिन.

सरसों तेल दादरी- 15,850 रुपये प्रति क्विंटल.

सरसों पक्की घानी- 2,320-2,375 रुपये प्रति टिन.

सरसों कच्ची घानी- 2,520-2,625 रुपये प्रति टिन.

तिल तेल मिल डिलिवरी – 17,000-18,500 रुपये.

सोयाबीन तेल मिल डिलिवरी दिल्ली- 17,000 रुपये.

सोयाबीन मिल डिलिवरी इंदौर- 16,800 रुपये.

सोयाबीन तेल डीगम, कांडला- 16,000.

सीपीओ एक्स-कांडला- 14,500 रुपये.

बिनौला मिल डिलिवरी (हरियाणा)- 15,100 रुपये.

पामोलिन आरबीडी, दिल्ली- 16,200 रुपये.

पामोलिन एक्स- कांडला- 15,000 रुपये (बिना जीएसटी के).

सोयाबीन दाना 7,700-7,750 रुपये.

सोयाबीन लूज 7,400-7,500 रुपये.

मक्का खल (सरिस्का) 4,000 रुपये.

Source :
Click to comment

Leave a Reply

Your email address will not be published.

लोकप्रिय

To Top