All for Joomla All for Webmasters
पंजाब

Russia Ukraine War: यूक्रेन से पंजाब लौटे 225 छात्र, मुख्य सचिव ने परिजनों से किया यह अनुरोध

मुख्य सचिव अनिरुद्ध तिवारी ने शुक्रवार को कहा कि युद्धग्रस्त यूक्रेन से अब तक 225 छात्र सुरक्षित पंजाब लौट चुके हैं. फंसे व्यक्तियों को भारतीय दूतावास के लगातार संपर्क में रहने की अपील भी की है.

Punjab News: मुख्य सचिव अनिरुद्ध तिवारी (Chief Secretary Anirudh Tiwari) ने शुक्रवार को कहा कि युद्धग्रस्त यूक्रेन (Ukraine) से अब तक 225 छात्र सुरक्षित पंजाब (Punjab) लौट चुके हैं. अधिकारियों को यूक्रेन में फंसे बाकी छात्रों और अन्य व्यक्तियों की सुरक्षित वापसी सुनिश्चित करने का निर्देश देते हुए, उन्होंने कहा कि राज्य सरकार संकट की इस घड़ी में संकटग्रस्त परिवारों (distressed families) की मदद करने के लिए कोई कसर नहीं छोड़ रही है.

जारी किया गया है हेल्पलाइन नंबर
राज्य सरकार के समर्पित 24 इनटू 7 कंट्रोल रूम नंबर यानी 1100 (पंजाब के भीतर से कॉल करने के लिए) और प्लस 91-172-4111905 (भारत के बाहर से कॉल करने के लिए) पर प्राप्त कॉलों की स्थिति की समीक्षा करते हुए, मुख्य सचिव को अवगत कराया गया कि 476 कॉल प्राप्त हुए हैं अब तक इन नंबरों पर और प्रश्नों को तुरंत विदेश मंत्रालय को भेजा जा रहा है. राज्य सरकार के अधिकारियों द्वारा 326 प्रभावित परिवारों का भौतिक दौरा किया गया है. तिवारी ने प्रभावित व्यक्तियों और उनके रिश्तेदारों से पंजाब सरकार के हेल्पलाइन नंबरों पर तुरंत संपर्क करने का आग्रह किया ताकि उन्हें सहायता प्रदान की जा सके.

मुख्य सचिव ने किया अपील
मुख्य सचिव ने फंसे हुए व्यक्तियों के माता-पिता और रिश्तेदारों से अपील की, कि वे अपने बच्चों को सीमा चौकियों पर दूतावास और ‘भारत सरकार’ के अधिकारियों से संपर्क करने और विदेश मंत्रालय के दिशा निर्देशों का सख्ती से पालन करने के लिए कहें.  वे यह सुनिश्चित करने के लिए भारतीय दूतावास के लगातार संपर्क में हैं कि पंजाब के किसी भी निवासी को अपने घर लौटने में किसी भी तरह की समस्या का सामना न करना पड़े. रेजिडेंट कमिश्नर, पंजाब, राखी गुप्ता भंडारी ने मुख्य सचिव को अवगत कराया कि फंसे हुए छात्रों और व्यक्तियों की सुरक्षित वापसी के लिए सभी आवश्यक व्यवस्था की गई है.

Source :
Click to comment

Leave a Reply

Your email address will not be published.

लोकप्रिय

To Top