All for Joomla All for Webmasters
जरूरी खबर

Indian Railways Rule: ट्रेन के सफर में बर्थ को लेकर रेलवे ने बनाए नियम, जान लीजिए वरना होगी दिक्कत

Indian Railways rules: यात्रियों की सुविधा के लिए रेलवे ने बर्थ से जुड़े कड़े और सुविधाजनक नियम बनाए हुए हैं. यात्रा के पहले आपको इन नियमों की जानकारी होना और उन्हें फोलो करना दोनों ही जरूरी है. आइए जानते हैं इनके बारे में. 

Indian Railways reservation rules: अगर आप भी ट्रेन से सफर करते हैं तो ये खबर जरूर पढ़ लें. कई बार बर्थ सेलेक्शन के समय मनचाही सीट नहीं मिलती है. दरअसल, रेलवे (Indian Railways) के पास भी लिमिटेड सीट होती है. यात्रियों की सुविधा के लिए रेलवे ने बर्थ से जुड़े कड़े नियम (Indian Railways rules) बनाए हुए हैं. यात्रा के पहले आपको इन नियमों की जानकारी होना और उन्हें फोलो करना दोनों ही जरूरी है.

ये भी पढ़ेंGood News: LPG सिलेंडर की कीमत में 200 रुपये की कटौती, इन लोगों को मिलेगा फायदा

सफर के दौरान मीडिल बर्थ (Train Middle berth)

सफर के दौरान अगर आपको मिडिल बर्थ मिलता है तो आपको कई बार दिक्कत होती है. दरअसल लोअर बर्थ वाले मुसाफिर अक्सर देर रात तक बैठे रहते हैं. ऐसे में मिडिल बर्थ वाले यात्री को रेलवे के नियम जरूर पता होने चाहिए. मिडिल बर्थ को लेकर रेलवे के निमय (Railway rule for Middle berth) अलग हैं. रेलवे के नियम बड़े काम के होते हैं अगर आपको इनकी जानकारी है तो आपकी यात्रा आरामदायक रहेगी. इनकी जानकारी न होने पर आप धोखा खाते हैं.

ये भी पढ़ेंIndian Railway strike: ट्रेन में यात्रा करने वाले सावधान! 31 मई को नहीं चलेगी रेल?

सोने का नियम (Middle berth ke niyam)

मिडिल बर्थ पर सोने वाले यात्रियों के लिए भी नियम हैं. कई बार मिडिल बर्थ पर सोने वाले यात्री इसे ट्रेन शुरू होते ही खोल लेते हैं. इससे लोअर बर्थ (Train Lower berth) वाले यात्री को काफी परेशानी होती है. लेकिन रेलवे के नियम के मुताबिक, मिडिल बर्थ वाला यात्री अपनी बर्थ पर 10 बजे रात से सुबह 6 बजे तक ही सो सकता है. यानी रात 10 से पहले अगर कोई यात्री मिडिल बर्थ खोलने से रोकना चाहे तो आप उसे रोक सकते हैं. वहीं, सुबह 6 बजे के बाद बर्थ को नीचे करना होगा, ताकि दूसरे यात्री लोअर बर्थ पर बैठ सकें.

कई बार लोअर बर्थ वलए देर रात तक जागते हैं और मिडिल बर्थ वालों को दिक्क्क्त होती है ऐसे में आप 10 बजे अपनी सीट नियम के तहत उठा सकते हैं. 

Source :
Click to comment

Leave a Reply

Your email address will not be published.

लोकप्रिय

To Top