All for Joomla All for Webmasters
राजनीति

कांग्रेस का भाजपा पर गंभीर आरोप, कहा- झारखंड में सरकार गिराने के लिए विधायकों को दस करोड़ रुपये, मंत्री पद की हुई पेशकश

कांग्रेस ने रविवार को आरोप लगाया कि भारतीय जनता पार्टी ने झारखंड में सरकार गिराने के लिए उनके पार्टी विधायकों को दस करोड़ रुपये और आगे बनने वाली भाजपा सरकार में मंत्री पद का लालच दिया था. बता दें कि प्रदेश में झामुमो, कांग्रेस और राजद गठबंधन की सरकार है. हाल ही में कांग्रेस विधायकों को नकदी के साथ गिरफ्तार किया गया है.

कांग्रेस ने रविवार को आरोप लगाया कि भारतीय जनता पार्टी ने झारखंड में सरकार गिराने के लिए उनके पार्टी विधायकों को दस करोड़ रुपये और आगे बनने वाली भाजपा सरकार में मंत्री पद का लालच दिया था. बता दें कि प्रदेश में झामुमो, कांग्रेस और राजद गठबंधन की सरकार है. वहीं, कांग्रेस ने अपने तीनों विधायकों के खिलाफ पुलिस में शिकायत दर्ज कराई है. पश्चिम बंगाल के हावड़ा जिले में झारखंड के तीन कांग्रेस विधायकों के वाहन से शनिवार भारी मात्रा में नकदी बरामद हुई थी. जिसके बाद उन्हें रविवार को गिरफ्तार कर लिया गया था.

वहीं, इन आरोपों को खारिज करते हुए दिल्ली में भाजपा प्रवक्ता सैयद जफर इस्लाम ने पलटवार किया कि अपने विधायकों के भ्रष्टाचार को छिपाने के लिए कांग्रेस भाजपा पर दोष मढ़ रही है. उन्होंने आरोप लगाया कि कांग्रेस का बड़ा से लेकर छोटा नेता तक, सभी भ्रष्टाचार में लिप्त हैं. प्रवर्तन निदेशालय (ईडी) की एक हालिया जांच का हवाला देते हुए इस्लाम ने कहा कि मुख्यमंत्री हेमंत सोरेन से संबंधित अधिकारियों को संदिग्ध भ्रष्टाचार के मामले में पकड़ा गया है और अब कांग्रेस के तीन विधायकों को भारी मात्रा में नकदी के साथ गिरफ्तार किया गया है. उन्होंने कहा, ‘कांग्रेस की सच्चाई एक बार फिर सामने आ गई है. झारखंड में बड़े पैमाने पर भ्रष्टाचार है. राज्य सरकार भ्रष्टाचार में लिप्त है और झारखंड भ्रष्टाचार का अड्डा बन गया है.’ 

टीएमसी ने की जांच की मांग

इस बीच, पश्चिम बंगाल में सत्तारूढ़ दल तृणमूल कांग्रेस ने मामले की जांच की मांग करते हुए दावा किया कि भाजपा नेता शुभेंदु अधिकारी ने हाल ही में झारखंड जैसे राज्यों में सरकार गिराने का संकेत दिया था. वहीं, कांग्रेस विधायक दल के नेता एवं झारखंड के संसदीय कार्य मंत्री आलमगीर आलम ने रांची में कहा कि कांग्रेस के बेरमो विधायक जयमंगल सिंह ने मामले में अरगोड़ा थाने में प्राथमिकी दर्ज कराई है. उन्होंने कहा कि नकदी के साथ गिरफ्तार तीन कांग्रेस विधायकों के खिलाफ दस करोड़ रुपये नकदी देने और आगे बनने वाली सरकार में मंत्री पद का लालच देकर राज्य सरकार को गिरवाने की कोशिश करने का षड्यंत्र रचने के आरोप में यह मामला दर्ज कराया गया है. 

कोलकाता चलने के लिए कहा था- कांग्रेस विधायक

जयमंगल ने दावा किया, ‘राजेश कच्छप और नमन बिक्सल कोंगारी ने मुझसे कोलकाता चलने को कहा और प्रत्येक विधायक के लिए 10 करोड़ रुपये देने की बात कही. इरफान अंसारी और राजेश कच्छप मुझे कोलकाता से गुवाहाटी ले जाना चाहते थे, जहां उनके मुताबिक असम के मुख्यमंत्री हिमंत बिस्व सरमा के साथ एक बैठक तय की गई थी.’

Source :
Click to comment

Leave a Reply

Your email address will not be published.

लोकप्रिय

To Top