All for Joomla All for Webmasters
जरूरी खबर

यह App बताएगा कितना शुद्ध और खरा है आपका सोना, जानिए इस्‍तेमाल का तरीका

gold

बीआईएस केयर ऐप (BIS Care App) की मदद से ग्राहक आसानी से किसी भी सामान की हॉलमार्किंग या ISI मार्क की जांच कर सकते हैं. यही नहीं अगर उपभोक्‍ता को सामान की क्वालिटी या विश्वसनीयता को लेकर कोई शंका या संदेह है तो, वे ऐप के माध्‍यम से इसकी शिकायत भी कर सकते हैं.

ये भी पढ़ेंMultibagger Stock: निवेशकों पर हुई धनवर्षा, मात्र 1 लाख के बन गए 1.2 करोड़ रुपये

नई दिल्‍ली. लोगों को ठगी से बचाने के लिए सरकार ने अब सोने के आभूषणों पर हॉलमार्किंग (Hallmarking) अनिवार्य कर दी है. लेकिन, फिर भी लोग सोने की खरीदारी करते वक्‍त इस बात को आश्‍वस्‍त नहीं होते की जो सोना वो खरीद रहे हैं वो शुद्ध ही है. लोगों की इसी उलझन को दूर करने के लिए भारतीय मानक ब्‍यूरो (Bureau of Indian Standards-BIS) ने बीआईएस केयर ऐप (BIS Care App) नामक मोबाइल ऐप बनाया है जो हॉलमॉर्क ज्‍वैलरी की जांच तुरंत कर देगा.

इस ऐप की मदद से ग्राहक आसानी से किसी भी सामान की हॉलमार्किंग या ISI मार्क की जांच कर सकते हैं. यही नहीं अगर उपभोक्‍ता को सामान की क्वालिटी या विश्वसनीयता को लेकर कोई शंका या संदेह है तो, वे ऐप के माध्‍यम से इसकी शिकायत भी कर सकते हैं.

ऐसे करें BIS Care App का प्रयोग

BIS Care App नामक इस एप्‍लीकेशन को Play Store से डाउनलोड किया जा सकता है. इसकी मदद से किसी भी हॉलमार्किंग ज्‍वैलरी की जांच घर बैठे मिनटों में की जा सकती है. बीआईएस केयर ऐप का इस्तेमाल करने के लिए सबसे पहले आपको इसे अपने स्मार्टफोन में डाउनलोड करना होगा. डाउनलोड होने के बाद आपको इसे ओपन करना होगा. फिर, इसमें अपना नाम, फोन नंबर और ईमेल आईडी डालना होगा। फिर, आपका मोबाइल नंबर और ईमेल आईडी ओटीटी के जरिए वेरिफाई करना होगा. वेरिफिकेशन के बाद ही इस ऐप का प्रयोग किया जा सकता है.

बीआईएस केयर ऐप में ‘Verify HUID’ का फीचर दिया गया है. इस फीचर की मदद से आप अपनी हॉलमार्क ज्वेलरी की शुद्धता की जांच कर सकते हैं. इसके अलावा ऐप के लाइसेसिंग डिटेल सेक्शन में जाकर भी ब्रांडेड प्रोडक्ट्स की जांच कर सकते हैं. अगर आप अपनी खरीदी हॉलमार्क ज्‍वैलरी से संतुष्‍ट नहीं है तो आप ऐप के कम्‍पलेट्स सेक्‍शन में जाकर शिकायत भी दर्ज करा सकते हैं.

ये भी पढ़ेंक्रिप्टोकरेंसी मार्केट अपडेट: इथेरियम में जबरदस्त तेजी, 7 दिनों में 12 फीसदी से अधिक बढ़ा

हर ज्‍वैलरी को दिया जाता है HUID नंबर
सरकार ने पिछले साल 1 जुलाई से गोल्ड ज्वेलरी की हॉलमार्किंग के संकेतों में बदलाव करते हुए संकेतों की संख्‍या तीन कर दी है. पहला संकेत बीआईएस हॉलमार्क का होता है. दूसरा संकेत शुद्धता (Purity)  के बारे में बताता है तथा तीसरा संकेत छह डिजिट का एक अल्फान्यूमेरिक कोड होता है जिसे HUID नंबर कहा जाता है. HUID का मतलब हॉलमार्क यूनिक आइडेंटिफिकेशन नंबर होता है. इस छह डिजिट के कोड में लेटर और डिजिट्स शामिल होते हैं. हॉलमार्किंग के वक्त हर ज्वेलरी को एक HUID नंबर एलॉट किया जाता है. यह नंबर यूनिक होता है. इसका मतलब है कि एक ही एचयूआईडी नंबर की दो ज्वेलरी नहीं हो सकती.

Source :
Click to comment

Leave a Reply

Your email address will not be published.

लोकप्रिय

To Top