All for Joomla All for Webmasters
दुनिया

Afghanistan-Taliban Crisis LIVE: तालिबान ने महिला न्यूज एंकरों पर लगाया बैन, कल प्रेस कांफ्रेंस में की थीं बड़ी-बड़ी बातें

taliban

Afghanistan-Taliban Crisis LIVE: तालिबान ने मंगलवार को महिलाओं की आजादी को लेकर बड़ी-बड़ी बातें की थीं और आज उसने महिला न्यूज एंकरों पर बैन लगा दिया है और बदले में अपने एंकर्स को बहाल किया है. जानिए Latest Updates….

Afghanistan-Taliban Crisis LIVE: तालिबान ने कल ही प्रेस कांफ्रेंस में दुनिया के सामने बड़े-बड़े वादे किए थे, लेकिन उन वादों को निभाने में अभी 24 घंटे भी नहीं बीते हैं कि उसने महिलाओं के लिए अपनी सोच को जाहिर कर दिया है. तालिबान ने सबसे पहले महिला न्यूज एंकर्स को बैन कर दिया है और उनकी जगह अपने पुरुष एंकर्स से एंकरिंग शुरू करवा दी है. जानकारी के मुताबिक अफगानिस्तान के सरकारी टीवी चैनल की एंकर खदीजा अमीन को हटाकर तालिबान ने अपने लोगों से एंकरिंग शुरू करवा दी है

मंगलवार को ही अफगानिस्तान की गद्दी पर काबिज हुए तालिबान ने पहली बार प्रेस कांफ्रेंस की और उसमें महिलाओं को आजादी देने के दावे भी किए. प्रेस कांफ्रेंस में उसने कहा कि वह महिलाओं पर दबाव नहीं बनाएगा और महिलाओं से सरकार में शामिल होने की अपील भी की थी. लेकिन ठीक इसके 24 घंटे के अंदर ही उसने महिलाओं की आजादी को लेकर अपना असली चेहरा दिखा दिया है.

तालिबान ने अफगानिस्तान की महिला गवर्नर सलीमा मजारी को पकड़ लिया गया है. सलीमा अफगानिस्तान की पहली महिला गवर्नर हैं, जिन्होंने पिछले कुछ समय में तालिबान के खिलाफ बंदूक उठा ली थी

कंधार लौट आया है मुल्ला बरादर अखुंद, बन सकता है राष्ट्रपति

अफगानिस्तान में सत्ता हथियाने के बाद अब तालिबान सरकार बनाने की तैयारी में है. इस बीच तालिबान के चरमपंथी संगठन का सह-संस्थापक और राजनीतिक प्रमुख मुल्ला बरादर अखुंद दोहा से कंधार लौट आया है और तालिबान के शासन में वह अफगानिस्तान का राष्ट्रपति बन सकता है.

इससे पहले अफगानिस्तान के उप-राष्ट्रपति अमरुल्ला सालेह ने खुद को अफगानिस्तान का राष्ट्रपति घोषित कर दिया है और कहा है कि, ‘राष्ट्रपति अशरफ गनी देश के बाहर हैं और इसीलिए संविधान के मुताबिक अब मैं यहां का राष्ट्रपति हूं. मैं सभी से समर्थन की अपील करता हूं.’

अमेरिका ने अपने 3200 लोगों को अफगानिस्तान से निकाला

एफपी न्यूज एजेंसी के अनुसार अमेरिकी सेना युद्धग्रस्त देश अफगानिस्तान से अबतक 3,200 लोगों को निकाल लिया है. वहीं, भारत भी अपने दूतावास के अधिकारियों समेत लगभग 500 लोगों को वापस ला चुका है,जबकि अभी भी कुछ भारतीयों के फंसे होने की संभावना, उन्हें भी वापस लाने का प्रयास किया जा रहा है.

काबुल एयरपोर्ट पर लोगों की भीड़ कर रही इंतजार

टोलो न्यूज़ के मुताबिक, बड़ी संख्या में लोग काबुल एयरपोर्ट और उसके आस-पास के इलाके में नजर आ रहे हैं, जिसमें बड़ी संख्या में महिलाएं, बच्चे शामिल हैं. ये सभी लोग देश छोड़ने की आस में यहां पर बैठे हैं.

जानकारी के मुताबिक, काबुल एयरपोर्ट पर भीड़ के कारण मची भगदड़ में अबतक करीब 40 लोगों की मौत हो गई है. एयरपोर्ट के पास कई लोग ऐसे भी हैं, जिनके पास ना वीज़ा है और ना ही पासपोर्ट लेकिन वो किसी भी तरह देश से बाहर जाना चाहते हैं.

संयुक्त राष्ट्र की मानवाधिकार परिषद ने अफगानिस्तान के हालात पर चर्चा के लिए 24 अगस्त को विशेष सेशन रखा है.

Source :
Click to comment

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

लोकप्रिय

To Top