All for Joomla All for Webmasters
एजुकेशन

IAS Success Story: अपराजिता ने UPSC के लिए छोड़ दी जॉब, इस तरह हासिल हुई 40वीं रैंक, जानिए कैसे तय हुआ ये सफर

UPSC Success Story: यूपीएससी की सिविल सर्विसेज की परीक्षा में हर साल देशभर के लाखों छात्र भाग लेते हैं और कुछ ही छात्रों को इसमें सफलता मिल पाती है. लेकिन कई छात्रों की कहानी ऐसी होती है जो किसी न किसी के लिए प्रेरणा बन जाती है. बनारस की अपराजिता की कहानी भी कुछ ऐसी ही है. उन्होंने कभी हार नहीं मानी और अपने तीसरे प्रयास में सफलता प्राप्त कर ली. आइए जानते हैं अपराजिता शर्मा के यूपीएससी सफर के बारे में…

बनारस की रहने वाली हैं अपराजिता
आपको बता दें कि अपराजिता बनारस की रहने वाली हैं. परिवार में पिता रिटायर्ड आईआरएस ऑफिसर हैं तो उनकी माता एक प्रोफ़ेसर हैं. अपराजिता ने प्रारंभिक शिक्षा भी बनारस से प्राप्त की है. स्कूल की पढ़ाई खत्म होने के बाद उन्होंने रांची के बिरला इंस्टिट्यूट ऑफ़ टेक्नोलॉजी से केमिकल इंजीनियरिंग में ग्रेजुएशन किया. ग्रेजुएशन पूरा करने के बाद उन्होंने एक अच्छी कंपनी में नौकरी भी ज्वॉइन कर ली. इस दौरान उन्होंने जबलपुर और मुंबई जैसे जगहों पर रहने का अवसर भी मिला.

अचानक नौकरी से दे दिया इस्तीफा 
एक इंटरव्यू में अपराजिता ने बताया कि जब वह छोटी थीं तो उनके नाना अक्सर कहा करते थे कि अपराजिता एक दिन अफसर बनेंगी. बस फिर क्या था ये बात जब अपराजिता को मन में घूमने लगी तो उन्होंने नौकरी के दौरान ही सिविल सेवा परीक्षा देना का मन बना लिया. फिर वो दिन भी आ गया कि उन्होंने अचानक से अपनी नौकरी से इस्तीफा दे दिया और देश की सबसे कठिन परीक्षा क्रैक करने की तैयारी में जुट गईं.

तीन प्रयास के बाद सफलता मिली
यूपीएससी परीक्षा में सफलता पाने के लिए अपराजिता ने तीन प्रयास दिए. पहले दो प्रयासों में वह असफल रही थीं लेकिन उन्होंने हार नहीं मानी और वह कठिन परिश्रम और लगन के साथ पढ़ाई करती रहीं. आखिरकार वो दिन आ ही गया जब उन्हें  इस मेहनत का फल उन्हें मिला. अपराजिता ने साल 2017 में यूपीएससी परीक्षा के अपने तीसरे प्रयास में 40वीं रैंक प्राप्त की. 

एनसीईआरटी किताबों का सहारा ले

अपराजिता का मानना है कि मेन्स, प्रीलिम्स और इंटरव्यू की तैयारी अलग-अलग करने की जगह एक साथ करना चाहिए. इसके लिए अपना बेसिक मजबूत रखें, और एनसीईआरटी किताबों का सहारा लें. इसके बाद हर रोज़ का एक टारगेट सेट कर उसे पूरा करने की कोशिस करें. इसके साथ ही करंट अफेयर्स के लिए रोजाना न्यूज पेपर पढ़ने की आदत डाले.

Source :
Click to comment

Leave a Reply

Your email address will not be published.

लोकप्रिय

To Top