All for Joomla All for Webmasters
जरूरी खबर

30 कंपनियां शेयर बिक्री से 45,000 करोड़ रुपये जुटा सकती हैं, अक्टूबर-नवंबर आ सकते हैं इनके IPO

IPO

नई दिल्ली, पीटीआइ। अक्टूबर-नवंबर के महीने में आरंभिक सार्वजनिक पेशकश (IPO) के जरिए कम से कम 30 कंपनियां शेयर बिक्री करके कुल 45,000 करोड़ रुपये से अधिक की राशि जुटा सकती हैं, मर्चेंट बैंकिंग सूत्रों ने यह जानकारी दी है। उन्होंने कहा कि जुटाई गई पूंजी का बड़ा हिस्सा टेक्नोलॉजी संचालित कंपनियों के खाते में जाएगा।

मर्चेंट बैंकिंग सूत्र के मुताबिक, जो फर्म अक्टूबर-नवंबर के दौरान आईपीओ के जरिए धन जुटाएंगे उनमें पॉलिसीबाजार (6,017 करोड़ रुपये), एमक्योर फार्मास्युटिकल्स (4,500 करोड़ रुपये), नायका (4,000 करोड़ रुपये), सीएमएस इंफो सिस्टम्स (2,000 करोड़ रुपये), मोबिक्विक सिस्टम्स (1,900 करोड़ रुपये) शामिल हैं। इसके अलावा नॉर्दर्न आर्क कैपिटल (1,800 करोड़ रुपये), इक्सिगो (1600 करोड़ रुपये), सैफायर फूड्स (1500 करोड़ रुपये), फिनकेयर स्मॉल फाइनेंस बैंक (1,330 करोड़ रुपये), स्टरलाइट पावर (1,250 करोड़ रुपये), रेटगेन ट्रैवल टेक्नोलॉजीज (1,200 रुपये) करोड़) और सुप्रिया लाइफसाइंस (1,200 करोड़ रुपये) भी समीक्षाधीन अवधि में अपने आईपीओ जारी कर सकती हैं।

बता दें कि Zomato के IPO ने नई टेक कंपनियों को आईपीओ के लिए प्रोत्साहित किया है। जोमैटो के आईपीओ को 38 गुना सब्सक्रिप्शन मिला था। एंजेल वन के उप-उपाध्यक्ष (इक्विटी रणनीतिकार) ज्योति रॉय कहते हैं, आमतौर पर जोमैटो जैसी कंपनियां निजी इक्विटी कंपनियों से धन जुटाती हैं और आईपीओ ने नए जमाने की टेक कंपनियों के लिए धन का एक नया स्रोत खोल दिया है।

रॉय ने कहा कि महामारी के बाद अर्थव्यवस्था में उम्मीद से ज्यादा मजबूत सुधार ही आने वाले महीने में कई बड़े आईपीओ की तैयारी की एक वजह है। ट्रू बीकन और जेरोधा के सह-संस्थापक निखिल कामत ने भी इसी तरह की राय देते हुए कहा कि अगर अगले 1-2 साल तक तेजी जारी रहती है, तो आईपीओ की बड़ी संख्या में आते रहेंगे। इनवेस्ट19 के संस्थापक और मुख्य कार्यपालक अधिकारी कौशलेंद्र सिंह सेंगर ने कहा कि अगर बाजार की मौजूदा स्थिति बनी रही तो आने वाले साल में आईपीओ बूम के बढ़ने की उम्मीद है।

Source :
Click to comment

Leave a Reply

Your email address will not be published.

लोकप्रिय

To Top