All for Joomla All for Webmasters
एजुकेशन

MAHA TET 2021: 10 अक्टूबर को है महाराष्ट्र टीचर एलिजिबिलिटी टेस्ट, Exam क्रैक करने के लिए यहां जानें बेस्ट Tips

TET

MAHA TET 2021:  अन्य प्रतियोगी परीक्षाओं की तरह, महाराष्ट्र टीचर एलिजिबिलिटी टेस्ट भी काफी मुश्किल है. बिना कड़ी मेहनत और स्टडी प्लानिंग किए इस एग्जाम को क्रैक नहीं किया जा सकता है.

महाराष्ट्र स्टेट कॉउंसिल ऑफ टीचिंग 10 अक्टूबर 2021 को महाराष्ट्र टीचर एलिजिबिलिटी टेस्ट 2021 आयोजित करने जा रहा है. इसके लिए आधिकारिक वेबसाइट mahated.in पर रजिस्ट्रेशन भी जारी है. उम्मीदवार 25 अगस्त  2021 तक MAHATET 2021 के आवेदन कर सकते हैं. ऑफिशियल नोटिफिकेशन के अनुसार  MAHATET 2021 के एडमिट कार्ड 25 सितंबर 2021 को जारी किए जाने की संभावना है.
बहरहाल टीचल एलिजिबिलिटी टेस्ट में दो महीने से भी कम समय बचा है. ऐसे में MAHATET 2021 में शामिल होने जा रहे उम्मीदवारों के पास परीक्षा में सफल होने के लिए एक क्लियर स्ट्रैटजी और स्टडी प्लानिंग होनी चाहिए. अन्य प्रतियोगी परीक्षाओं की तरह, यह स्टेट एलिजिबिलिटी टेस्ट भी काफी मुश्किल है. बिना कड़ी मेहनत किए इस एग्जाम को क्रैक नहीं किया जा सकता है. चलिए यहां जानते हैं एग्जाम में अच्छा स्कोर करने के लिए टिप्स, ट्रिक्स और स्टडी प्लान.
 
1-सिलेबस और पेपर पैटर्न के बारे में पता होना जरूरी
सबसे पहले उम्मीदवारों को MAHATET 2021 सिलेबस और पेपर पैटर्न के बारे में पता होना चाहिए. पेपर में 150 मल्टीपल च्वाइस के प्रश्न (MCQs) शामिल होते हैं. उम्मीदवारों को पूरे पेपर को सॉल्व करने के लिए 90 मिनट का समय दिया जाता है. प्रत्येक सही उत्तर के लिए, उम्मीदवारों को 1 मार्क अवार्ड किया जाता है. वहीं गलत उत्तरों के लिए कोई निगेटिव मार्किंग नहीं की जाती है.
एलिजिबिलिटी टेस्ट में दो पेपर शामिल हैं – पेपर I कक्षा 1-5 के लिए और पेपर II कक्षा 6 से8 के लिए होता है. पेपर I  में अंग्रेजी, मराठी, गणित, कैंपस स्टडी, पर्यावरण अध्ययन और बाल मनोविज्ञान और शिक्षाशास्त्र शामिल हैं. इसी तरह, पेपर- II में अंग्रेजी, मराठी, बाल मनोविज्ञान और शिक्षाशास्त्र, गणित और सामाजिक विज्ञान विषय शामिल हैं

2- सही स्टडी मैटिरियल से तैयारी करें
सिलेबस को समझने के बाद दूसरा टिप है सही स्टडी मटेरियल को रेफर करना. सही रेफरेंस बुक्स से स्टडी करने से कैंडिडेट्स की नॉलिज के बेस को इम्प्रूव करने में मदद मिल सकती है. इसके अलावा, ऐसी बुक्स में एलिजिबिलिटी टेस्ट में पूछे गए प्रश्नों की तरह ही प्रश्नों का एक समूह होता है.
MAHATET 2021 परीक्षा में कई अलग-अलग सब्जेक्ट्स को शामिल किया गया है और इसलिए, सही स्टडी मैटिरियल का जिक्र करना सबसे जरूरी है. उम्मीदवार इन कुछ  बुक्स को रेफर कर सकते हैं इनमें छाया महाराष्ट्र प्राइमरी टीईटी चैलेंजर इन इंग्लिश , ईटी पेपर 1 और 2 – संपूर्ण मार्गदर्शक मराठी एमएच-टीईटी, फास्टट्रैक मैथ्स (एमपीएससी, टीईटी-सीईटी), अपर प्रामरी टीईटी सोशल स्टडीज / सोशल साइंस, 3200 एमसीक्यू, टीईटी एनवायरमेंटल स्टडीज आदि. हालांकि ये बुक्स सिर्फ रेफरेंस के लिए हैं उम्मीदवार और दूसरी रेलिवेंट बुक्स भी फॉलो कर सकते हैं.

3- लैंग्वेज पर पकड़ जरूरी है
सही स्टडी मैटिरियल चुनने के अलावा, उम्मीदवारों की लैंग्वेज पर अच्छी पकड़ होनी चाहिए. यह न केवल MAHATET 2021 परीक्षा में सफल होने के लिए उपयोगी है, बल्कि छात्रों के साथ कम्यूनिकेशन करने में भी मदद करता है. उम्मीदवारों को या तो रोज या फिर ऑल्टरनेटिव दिनों पर अंग्रेजी और मराठी न्यूज पेपर्स को पढ़ना ही चाहिए. टाइम्स ऑफ इंडिया, हिंदुस्तान टाइम्स, लोकमत और महाराष्ट्र टाइम्स जैसे समाचार पत्र भाषा कौशल में सुधार के लिए उपयोगी हो सकते हैं.

4- मॉक टेस्ट जरूर सॉल्व करें
MAHATET 2021 एग्जाम का सिलेबस काफी ज्यादा है. सीखने, समझने और याद रखने के लिए बहुत कुछ है.लैंग्वेज में ग्रामर के रूल्स से लेकर मैथ्स के फॉर्मूले याद होने बेहद जरूरी है. ऐसे में इतने बड़े सिलेबस को याद रखने के लिए, मॉक टेस्ट काफी यूजफुल हैं. मॉक टेस्ट तनावपूर्ण माहौल में विभिन्न कॉन्सेप्ट्स को याद करने और लागू करने में मदद करते हैं. वे टाइम मैनेजमेंट डेवलेप करने में भी मदद करते हैं.इसलि मॉक टेस्ट जरूर सॉल्व करें. इससे ये भी आइडिया हो जाता है कि परीक्षा में किस तरह के प्रश्न पूछे जा सकते हैं और आप उन प्रश्नों का जवाब देने के लिए कितने तैयार हैं.

5- पिछले साल के प्रश्न पत्र सॉल्व करें
मॉक टेस्ट के साथ ही  MAHATET पिछले साल के प्रश्न पत्र भी एलिजिबिलिटी टेस्ट में सफल होने के लिए एक यूजफुल प्रिपरेशन टूल्स के रूप में काम करते हैं. उम्मीदवार विभिन्न ऑनलाइन पोर्टलों से पिछले साल के प्रश्नपत्रों की आंसर की प्राप्त कर सकते हैं.

6-मैथ्स के फॉर्मूलों की लिस्ट बनाएं और रिवाइज करते रहें
मैथ्स से रिलेटिड सभी जरूरी फॉर्मूलों को लिस्टेड करना चाहिए. MCQs को हल करते समय यह लिस्ट उपयोगी साबित हो सकती है. एक उम्मीदवार को परीक्षा में बैठने से पहले इस लिस्ट को कई बार रिवाइज जरूर करना चाहिए. इस तरीके से कैंडिडेट्स एक्चुअल एग्जाम के लिए सभी फॉर्मूलों को आसानी से रिवाइज कर सकते हैं.
 

7- रिवीजन के लिए पर्सनल नोट्स बनाएं
वहीं सोशल स्टडी और एनवायरमेंटल स्टडी जैसे सब्जेक्ट्स में महत्वपूर्ण प्वाइंट्स को अंडरलाइन या नोट करें.  ये दोनों विषय ज्यादातर थ्योरिटिकल और फैक्चुअल हैं, इसलिए, चीजों को बेहतर ढंग से सीखने के लिए, लास्ट मिनट में रिवीजन के लिए पर्सनल नोट्स बनाएं.

Source :
Click to comment

Leave a Reply

Your email address will not be published.

लोकप्रिय

To Top